Saturday, January 28, 2023
Home कोरोना शहर के साथ-साथ आज गांव और कस्बों से भी कोरोना संक्रमण के...

शहर के साथ-साथ आज गांव और कस्बों से भी कोरोना संक्रमण के नये-नये मामले सामने निकल कर आ रहे हैं।

- Advertisement -

(Front News Today) शहर के साथ-साथ आज गांव और कस्बों से भी कोरोना संक्रमण के नये-नये मामले सामने निकल कर आ रहे हैं। सरकार के दिशानिर्देशों का सही से पालन नहीं करना और संक्रमण को लेकर असावधानी लगातार चिंता बढ़ा रही है। नये मामलों में वहां से भी संक्रमित सामने आ रहे हैं, जहां इसकी संभावना कम थी। एक व्यक्ति से परिवार, परिवार से समाज, समाज से शहर, राज्य और राष्ट्र जुड़ा है। इसलिए अगर एक व्यक्ति भी नियमों की अनदेखी करता है तो उसका प्रभाव काफी बड़े स्तर पर हो सकता है.

आम और खास को नहीं देखता संक्रमण:
कोरोना वायरण का संक्रमण आम और खास को नहीं देखता। कोरोना से कोई भी और कभी भी संक्रमित हो सकता है, अगर उसने सावधानी नहीं बरती। अगर किसी व्यक्ति को यह लगता है कि वह बेहद स्वस्थ है, आज तक उसे कोई रोग नहीं हुआ, तो इस कोरोना काल में वह इस भ्रम में ना रहे। अभी तक किसी भी विश्वसनीय स्रोतों से इस बात की पुष्टि नहीं हुई है कि जो लोग बहुत ही स्वस्थ हैं उन्हें कोरोना वायरस का संक्रमण नहीं होगा। हां इसका दूसरा पहलू यह जरूर है कि आप शारीरिक तौर पर स्वस्थ रहे हैं तो इस संक्रमण के प्रभाव में जल्द नहीं आएंगे। लेकिन सोचने की बात यह है कि अगर आपको हो गया तो इससे न केवल आप बल्कि आपका परिवार और समाज भी इसकी जद में आ सकता है। क्योंकि हरेक व्यक्ति के शरीर में रोग प्रतिरोधक क्षमता अलग-अलग होती है। इसलिए यह मत समझिए कि केवल आपके स्वस्थ रहने से आपका पूरा परिवार और समाज स्वस्थ रह सकता है।

इन लापरवाहियों से बचें:
सड़कों पर बेवजह घुमने के ख्याल से निकलना, ‘मुझे नहीं होगा’ की सोच रखना
सामाजिक जगहों पर दोस्तों-परिजनों से मिलने के दौरान शारीरिक दूरी का ध्यान नहीं रखना
दुकान, बाजार आदि जगहों पर शारीरिक दूरी का पालन नहीं करना
बाहर से लाए सामानों को सीधे उपयोग में लाना, स्वच्छता का ख्याल नहीं रखना
घर से बाहर निकले के दौरान मास्क और सैनिटाइजर का उपयोग नहीं करना
मास्क पहनने के लिए दौरान नाक व मुंह अच्छी तरह नहीं ढंकना
ताजा भोजन और साफ पानी ही लें:
डब्ल्यूएचओ की ओर से जारी निर्देशों के अनुसार महामारी के दौरान भोजन में ताजा और पौष्टिक सामग्री लें। खाना बनाने से पहले और बनाने के दौरान अपने हाथों को धोते रहें। साथ ही फल और सब्जियों को कच्चा खाने से पहले आवश्यक रूप से धो लें, साफ पानी ही पीएं। यहां अनदेखी न करें, सावधानी बेहद जरूरी है।

स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय, भारत सरकार का निर्देश
नियमों की अनदेखी से पूरे समुदाय को खतरा है। इसको लेकर स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय, भारत सरकार ने कई उपाय सुझाए हैं:
घर से बाहर निकलने से पहले मास्क जरूर पहनें
ज्यादा इस्तेमाल होने वाले सतहों जैसे दरवाजे का हैंडल या ऐसी अन्य जगहों की नियमित सफाई करें
सड़कों या सार्वजनिक जगहों पर जहां तहां नहीं थूंके
बिना किसी उद्देश्य या औचित्य के यात्रा करने से बचें
अपने आसपास एवं स्वास्थ्य की मॉनिटरिंग के लिए आरोग्य सेतु एप्प का इस्तेमाल कर सकते हैं

रोग मुक्त होने पर भी रहना होगा सावधान:
आज लोगों में यह धारणा भी बनती जा रही है कि एक बार कोरोना संक्रमित होने के बाद वे दोबारा बीमार नहीं होंगे। लिहाजा लापरवाही बरतते हैं, लेकिन ऐसा नहीं है। देश और विदेश से कई ऐसे मामले आए हैं, जहां सक्रमित ठीक होकर कुछ दिन बाद दोबारा भी संक्रमित हुए हैं. विशेषज्ञों का भी कहना है कि कोरोना का संक्रमण दोबारा भी हो सकता है। ऐसे में पहले के मुकाबले खतरा बढ़ जाता है। इसलिए अभी वक्त है सजग और सतर्क रहने का। इससे हम अपने साथ दूसरों को भी रोग मुक्त रख सकते हैं।

- Advertisement -

Stay Connected

1,058FansLike
374SubscribersSubscribe

Must Read

आगरा ताइक्वांडो के लिए शानदार रहा 2022 !

आगरा,उत्तर प्रदेश : वर्ष 2022 आगरा ताइक्वांडो के लिए शानदार रहा यहाँ के एक दर्जन से अधिक महिला व पुरुष खिलाड़ियों ने राष्ट्रीय...

हरियाणा की राजनीति में 17 सूत्रीय संघर्ष समिति रचेगी इतिहास: करतार भड़ाना

फरीदाबाद:-(GUNJAN JAISWAL) हरियाणा सरकार के पूर्व कैबिनेट मंत्री करतार सिंह भड़ाना के 17 सूत्रीय मांगो की चर्चा हरियाणा प्रदेश के हर जिले और कस्बों...

धूमधाम से मनाया जाएगा 74 वां गणतंत्र दिवस समारोह : विक्रम सिंह

- 74 वें गणतंत्र दिवस समारोह की तैयारियों को लेकर डीसी ने अधिकारियों को सौंपी जिम्मेदारी - कहा, जिस विभाग को जो भी दायित्व मिला है उसे पूरी...

निरंकारी सत्गुरु का नववर्ष पर मानवता को दिव्य संदेश

ब्रह्मज्ञान का ठहराव ही जीवन में मुक्ति मार्ग को प्रशस्त करता है- निरंकारी सत्गुरु माता सुदीक्षा जी महाराज                 दिल्ली:- “ब्रह्मज्ञान की प्राप्ति से जीवन में वास्तविक भक्ति का आरम्भ होता है और उसके ठहराव से हमारा जीवन भक्तिमय एंव आनंदित बन जाता है।“...

Related News

आगरा ताइक्वांडो के लिए शानदार रहा 2022 !

आगरा,उत्तर प्रदेश : वर्ष 2022 आगरा ताइक्वांडो के लिए शानदार रहा यहाँ के एक दर्जन से अधिक महिला व पुरुष खिलाड़ियों ने राष्ट्रीय...

हरियाणा की राजनीति में 17 सूत्रीय संघर्ष समिति रचेगी इतिहास: करतार भड़ाना

फरीदाबाद:-(GUNJAN JAISWAL) हरियाणा सरकार के पूर्व कैबिनेट मंत्री करतार सिंह भड़ाना के 17 सूत्रीय मांगो की चर्चा हरियाणा प्रदेश के हर जिले और कस्बों...

धूमधाम से मनाया जाएगा 74 वां गणतंत्र दिवस समारोह : विक्रम सिंह

- 74 वें गणतंत्र दिवस समारोह की तैयारियों को लेकर डीसी ने अधिकारियों को सौंपी जिम्मेदारी - कहा, जिस विभाग को जो भी दायित्व मिला है उसे पूरी...

निरंकारी सत्गुरु का नववर्ष पर मानवता को दिव्य संदेश

ब्रह्मज्ञान का ठहराव ही जीवन में मुक्ति मार्ग को प्रशस्त करता है- निरंकारी सत्गुरु माता सुदीक्षा जी महाराज                 दिल्ली:- “ब्रह्मज्ञान की प्राप्ति से जीवन में वास्तविक भक्ति का आरम्भ होता है और उसके ठहराव से हमारा जीवन भक्तिमय एंव आनंदित बन जाता है।“...

बेरोजगारो की बारात का न्योता देने दादरी पहुंचे नवीन जयहिन्द

*मुख़्यमंत्री द्वारा खेल मंत्री का बचाव, बेशर्मी की हद - नवीन जयहिन्द* चरखी दादरी । जैसा कि आप जानते है कि नवीन जयहिन्द ऐलान कर...
- Advertisement -

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

two × 3 =