Saturday, January 28, 2023
Home मनोरंजन सात समंदर पार लंदन में सारण का जलवा...

सात समंदर पार लंदन में सारण का जलवा…

- Advertisement -

(Front News Today) *23अप्रैल 2000 को नई दिल्ली के मावलंकर भवन में आयोजित वीर कुंवर सिंह विजयोत्सव में सोनाली कौशल ने भारत के तत्कालीन प्रधानमंत्री श्री अटल बिहारी वाजपेयी,तत्कालीन सूचना प्रसारण मंत्री अरुण जेटली,मॉरिशस के राजदूत रोहित नारायण सिंह ‘गति’ व कैलाशपति मिश्र के समक्ष अपना गीत सुना कर वहां उपस्थित तमाम श्रोताओं को रोमांचित कर दिया था ।
लंदन। आयरलैण्ड में जब रात को बर्फ गिर रही थी और पार्कों- सड़कों पर सफेद तह जम चुकी थी, तब शहर के एक मकान में भारतीय संगीत के सुरों की गरमाहट से मन के भीतर की बर्फ पिघल रही थी क्योंकि यहाँ भारतीय मूल की एक चिकित्सक सोनाली कौशल अपने भीतर के कलाकार को विभिन्न प्लेटफॉर्म पर बाहर लाने के लिए संगीत का प्रैक्टिस कर रही थी जिसका रिकॉर्डिंग भारतीय फिल्म इंडस्ट्री मुम्बई में हुआ है।

अब आपके मन में ये सवाल कौंध रहा होगा कि आखिर कौन है ये सोनाली कौशल ?
…तो आइए हम कराते हैं इनका परिचय। डॉक्टर सोनाली कौशल मूल रूप से छपरा शहर के भगवान बाजार निवासी व भारतीय स्टेट बैंक के सेवानिवृत अधिकारी कौशल कुमार सिंह की सुपुत्री है जिन्होंने MBBS की पढ़ाई चाइना के तिआनजिन मेडिकल कॉलेज से पूरी की और अब अपने प्रोफेशन को लेकर पति डॉक्टर शशि कुमार के साथ लंदन में रहती है ।इनके पति Basildon के सरकारी अस्पताल में सर्जन हैं ।

आपको बता दें कि ये वही सोनाली कौशल है जो अनुभूति कला शोध संस्थान “अबरी” के लिए वीर कुंवर सिंह गाथा गान में अपनी प्रस्तुति से श्रोताओं को मंत्रमुग्ध कर देती थी । 23 अप्रैल 2000 को नई दिल्ली के मावलंकर भवन में आयोजित वीर कुंवर सिंह विजयोत्सव में सोनाली कौशल ने भारत के तत्कालीन प्रधानमंत्री श्री अटल बिहारी वाजपेयी,तत्कालीन सूचना प्रसारण मंत्री अरुण जेटली,मॉरिशस के राजदूत रोहित नारायण सिंह ‘गति’ व कैलाशपति मिश्र के समक्ष अपना गीत सुना कर वहां उपस्थित तमाम श्रोताओं को रोमांचित कर दिया था ।
डॉ. सोनाली कौशल ने संगीत सुनने एवं श्रवण करने के अंतराल को बताते हुए कहा कि संगीत के सही सधे हुए स्वर मन और मस्तिष्क के सर्वश्रेठ पौष्टिक आहार हैं ।आज की इस उपभोक्तावादी संस्कृति में इंसान अपनी समस्त ऊर्जा को उत्पादन में लगा देते है लेकिन उनकी भावनाओं की तृप्ति तो संगीत के माध्यम से ही होता है इस लिए भी संगीत से मेरा भरपूर लगाव है ।
आइये सुनते है गायिका डॉ.सोनाली कौशल द्वारा रिकॉर्डिंग कराए गए इस अदाकरी भरे गीत को ….

- Advertisement -

Stay Connected

1,058FansLike
374SubscribersSubscribe

Must Read

आगरा ताइक्वांडो के लिए शानदार रहा 2022 !

आगरा,उत्तर प्रदेश : वर्ष 2022 आगरा ताइक्वांडो के लिए शानदार रहा यहाँ के एक दर्जन से अधिक महिला व पुरुष खिलाड़ियों ने राष्ट्रीय...

हरियाणा की राजनीति में 17 सूत्रीय संघर्ष समिति रचेगी इतिहास: करतार भड़ाना

फरीदाबाद:-(GUNJAN JAISWAL) हरियाणा सरकार के पूर्व कैबिनेट मंत्री करतार सिंह भड़ाना के 17 सूत्रीय मांगो की चर्चा हरियाणा प्रदेश के हर जिले और कस्बों...

धूमधाम से मनाया जाएगा 74 वां गणतंत्र दिवस समारोह : विक्रम सिंह

- 74 वें गणतंत्र दिवस समारोह की तैयारियों को लेकर डीसी ने अधिकारियों को सौंपी जिम्मेदारी - कहा, जिस विभाग को जो भी दायित्व मिला है उसे पूरी...

निरंकारी सत्गुरु का नववर्ष पर मानवता को दिव्य संदेश

ब्रह्मज्ञान का ठहराव ही जीवन में मुक्ति मार्ग को प्रशस्त करता है- निरंकारी सत्गुरु माता सुदीक्षा जी महाराज                 दिल्ली:- “ब्रह्मज्ञान की प्राप्ति से जीवन में वास्तविक भक्ति का आरम्भ होता है और उसके ठहराव से हमारा जीवन भक्तिमय एंव आनंदित बन जाता है।“...

Related News

आगरा ताइक्वांडो के लिए शानदार रहा 2022 !

आगरा,उत्तर प्रदेश : वर्ष 2022 आगरा ताइक्वांडो के लिए शानदार रहा यहाँ के एक दर्जन से अधिक महिला व पुरुष खिलाड़ियों ने राष्ट्रीय...

हरियाणा की राजनीति में 17 सूत्रीय संघर्ष समिति रचेगी इतिहास: करतार भड़ाना

फरीदाबाद:-(GUNJAN JAISWAL) हरियाणा सरकार के पूर्व कैबिनेट मंत्री करतार सिंह भड़ाना के 17 सूत्रीय मांगो की चर्चा हरियाणा प्रदेश के हर जिले और कस्बों...

धूमधाम से मनाया जाएगा 74 वां गणतंत्र दिवस समारोह : विक्रम सिंह

- 74 वें गणतंत्र दिवस समारोह की तैयारियों को लेकर डीसी ने अधिकारियों को सौंपी जिम्मेदारी - कहा, जिस विभाग को जो भी दायित्व मिला है उसे पूरी...

निरंकारी सत्गुरु का नववर्ष पर मानवता को दिव्य संदेश

ब्रह्मज्ञान का ठहराव ही जीवन में मुक्ति मार्ग को प्रशस्त करता है- निरंकारी सत्गुरु माता सुदीक्षा जी महाराज                 दिल्ली:- “ब्रह्मज्ञान की प्राप्ति से जीवन में वास्तविक भक्ति का आरम्भ होता है और उसके ठहराव से हमारा जीवन भक्तिमय एंव आनंदित बन जाता है।“...

बेरोजगारो की बारात का न्योता देने दादरी पहुंचे नवीन जयहिन्द

*मुख़्यमंत्री द्वारा खेल मंत्री का बचाव, बेशर्मी की हद - नवीन जयहिन्द* चरखी दादरी । जैसा कि आप जानते है कि नवीन जयहिन्द ऐलान कर...
- Advertisement -

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

twelve − 5 =