स्वेच्छा से सीएसआर के तहत उद्योगपति आगे आकर दें जनसेवा में सहयोग: उपायुक्त डा. मनोज कुमार

0
6

स्वेच्छा से सीएसआर के तहत उद्योगपति आगे आकर दें जनसेवा में सहयोग: उपायुक्त डा. मनोज कुमार
-आम जन की सेवा के लिए विस्तृत क्षेत्र, स्वयं चयन करते हुए सेवाओं को करेंं सुदृढ़
-उपायुक्त डा. मनोज कुमार ने सीएसआर के अंतर्गत उद्योगपतियों से सहयोग की अपील
सोनीपत, 19 दिसंबर। उपायुक्त डा. मनोज कुमार ने बड़ी औद्योगिक इकाइयों का संचालन कर रहे उद्योगपतियों से सीएसआर के तहत स्वेच्छा से जनसेवा के लिए आगे आकर सहयोग देने की अपील की। उन्होंने कहा कि जनसेवा के लिए विस्तृत क्षेत्र है तथा कुछ कार्य निर्धारित भी किये गये हैं। उद्योगपति अपनी रूचि अनुसार स्वयं कोई भी क्षेत्र चुनकर जनसेवा में योगदान दे सकते हैं।
लघु सचिवालय में उपायुक्त डा. मनोज कुमार की अध्यक्षता में सीएसआर की बैठक संपन्न हुई, जिसमें संबंधित अधिकारियों के साथ जिला के विभिन्न औद्योगिक क्षेत्रों की एसोसिएशनों के पदाधिकारियों ने हिस्सा लिया। उपायुक्त ने कहा कि स्किल डेवल्पमेंट, ग्रामीण खेल, महिला सशक्तिकरण, स्वयं सहायता समूह, आंगनवाड़ी बाल वाटिका, स्लम डेवल्पमेंट, स्वास्थ्य, कला, शिक्षा, स्टार्टअप, पर्यावरण संरक्षण, आपदा प्रबंधन आदि क्षेत्रों में सीएसआर के अंतर्गत सहयोग प्रदान किया जा सकता है। सीएसआर आग्रह की विषय वस्तु है, जिसमें प्रशासन की ओर से मांग की जाती है।
उपायुक्त ने कहा कि यदि इच्छाशक्ति और रूचि हो तो आम जन के लिए बहुत कुछ किया जा सकता है। ग्रामीण क्षेत्रों स्कूलों में इन्फ्रास्ट्रक्चर की मजबूती के लिए भी सहयोग दिया जा सकता है। उन्होंने सुझाया कि स्कूलों में साइंस लैब, क्रिएटिव रूम, किचन व वॉशरूम इत्यादि को दुरुस्त करने में सहयोगी बन सकते है। वॉशरूम को मेनटेन करने के लिए दो-तीन गांवों के स्कूलों को गोद लेकर काम कर सकते हैं। इस प्रकार हर क्षेत्र में विकल्प मौजूद हैं।
उपायुक्त डा. मनोज कुमार ने कहा कि बहुत-सी औद्योगिक इकाइयों के माध्यम से सीएसआर की गतिविधियां की भी जा रही हैं, किंतु उनकी पूर्ण सूचना प्रशासन को नहीं है। इसलिए उद्योगपति इस प्रकार के कार्यों को कागजी तौर पर सूचीबद्घ करके जिला प्रशासन के साथ साझा करें। इससे व्यवस्थित तरीके से सीएसआर गतिविधियों को आगे बढ़ाने मेंं मदद मिलेगी। उन्होंने औद्योगिक इकाइयों के पदाधिकारियों की समस्याओं व मांगों की सुनवाई भी की, जिनमें से अधिकांश मांगें उन्होंने मौके पर ही स्वीकृत की।
इस दौरान अतिरिक्त उपायुक्त अंकिता चौधरी ने उद्योगपतियों का आह्वïान किया कि वे एचकेआरएन पोर्टल पर स्वयं को पंजीकृत अवश्य करें, जिसके माध्यम से उन्हें रोजगार के लिए कौशल युवाओं की उपलब्धता करवाई जाएगी। इस कार्य में उनकी सुविधानुसार तालमेल के साथ आगे बढ़ा जायेगा। इस मौके पर जिला परिषद के सीईओ डा. सुशील मलिक, राकेश छाबड़ा, धीरज चौधरी, राकेश देवगन आदि औद्योगिक इकाइयों के प्रतिनिधि व अधिकारी मौजूद थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here