अग्निवीरों की भर्ती कर युवाओं के साथ खिलवाड़ कर रही सरकार : अनिल दूहन

0
0

फरीदाबाद। सेना में अग्निवीरों की भर्ती को लेकर मंगलवार को युवा कांग्रेस ने सैक्टर-16 स्थित सर्किट हाउस में एक प्रेसवार्ता का आयोजन किया। जिसको भारतीय सेना के रिटायर्ड लेफ्टिनेंट कर्नल अनिल दूहन ने सम्बोधित किया। कॉन्फ्रेंस को उनके साथ युवा कांग्रेस के शहरी उपाध्यक्ष राहुल सरदाना, अक्षय चंदीला, एनआईटी अध्यक्ष मुश्ताक खान युवा कांग्रेस , कोर्डिनेटर इशांत कथूरिया, विरेन्द्र मावी एवं सचिन सैनी ने भी सम्बोधित किया। लेफ्टिनेंट कर्नल ने बताया कि वर्तमान की भाजपा सरकार ने जो सेना में अग्निवीरों की भर्ती की जो प्रक्रिया शुरू की है, उससे देश के युवाओं का ह्रास हो रहा है। जो सुविधाएं एक सैनिक को मिलनी चाहिए थी, वो इन अग्निवीरों तक नहीं पहुंच पाएंगी। नियमित सैनिक को 15 साल तक पूरा वेतन मिलता है और रिटायरमेंट के बाद उसके परिवार को पेंशन मिलती है। उसे शहीद का दर्जा मिलता है, जोकि अग्निवीरों को नहीं मिलता। आम सैनिक को शहादत पर 75 लाख का इंश्योरेंस मिलता है और 55 लाख रुपए एक्सग्रेसिया राशि मिलती है। इसके अलावा मेडिकल सुविधा, सीएसडी सहित सभी तरह के मिलिट्री बेनेफिट मिलते हैं, लेकिन अग्निवीरों को कोई लाभ नहीं मिलता। इसलिए सरकार नियमित सैनिकों की भर्ती की बजाय अग्निवीरों की भर्ती कर रही है, ताकि सरकार पर आर्थिक बोझ न पड़े। उन्होंने बताया कि अग्निवीरों को डियरनेस अलाउंस, 30 हजार तनख्वाह जिसमें से 9 हजार रुपए सेवा निधि के रूप में काट लिए जाएंगे। ग्रेच्यूटी नहीं मिलेगी, मेडिकल सुविधा लाभ नहीं, पेंशन नहीं, कैंटीन सुविधा नहीं, पूर्व सैनिक का दर्जा भी नहीं, आरक्षित वैकेंसी भी नहीं, बच्चों को किसी प्रकार की छात्रवृत्ति नहीं। ऐसे बहुत से लाभ जो सरकार समय-2 पर घोषित करती है, इन अग्निवीरों को नहीं मिलेंगे। रिटायर्ड लेफ्टिनेंट कर्नल ने कहा कि अग्निवीरों की भर्ती कर सरकार देश के युवाओं के साथ छलावा कर रही है। सरकार को सेना में नियमित भर्ती प्रक्रिया को पुन: शुरू करना चाहिए। Vijay pratap singh

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here