कोरोना वायरस महामारी के कारण 2020 की पहली छमाही में दुनिया भर की लाखों महिलाओं और लड़कियों ने गर्भ निरोधकों और गर्भपात सेवाओं का सहारा लिया है…

0
35
(Front News Today)

(Front News Today) एक नए अध्ययन में पाया गया है कि कोरोनोवायरस महामारी के कारण 2020 की पहली छमाही में दुनिया भर की लाखों महिलाओं और लड़कियों ने गर्भ निरोधकों और गर्भपात सेवाओं का सहारा लिया है, उनमें से एक मिलियन से अधिक अकेले भारत में हैं।
मैरी स्टॉप्स इंटरनेशनल (एमएसआई) द्वारा किए गए अध्ययन में कहा गया है, जो दुनिया भर में गर्भपात और गर्भनिरोधक सेवाएं प्रदान करता है,एमएसआई ने पाया है कि भारत में सबसे ज्यादा गर्भपात और गर्भनिरोधक का मामला सामने आया है क्योंकि कड़े लॉकडाउन उपायों के कारण 1.3 मिलियन महिलाएं गर्भनिरोधक और गर्भपात प्रक्रियाओं का सहारा ली है,
रिपोर्ट में अनुमान लगाया गया है कि जनवरी से जून तक अकेले एमएसआई सेवाओं की पहुंच में कमी के कारण भारत में अतिरिक्त मिलियन असुरक्षित गर्भपात, अतिरिक्त 650,000 अनपेक्षित गर्भधारण और 2,600 अधिक मातृ मृत्युएं हुई है

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here