RSS और BJP के लिए क्यों खास है 5 अगस्त ?

0
24

(Front News Today) 5 अगस्त 2019 को संसद ने जम्मू कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाया था और फिर 5 अगस्त की तारीख आ रहा है… इस दिन सरकार ने राम मंदिर के शुभारंभ का दिन सुनिश्चित किया है… 5 अगस्त के बारे में कहा जा रहा है कि बीजेपी के लिए ये तारीख कोई मामूली तारीख नहीं है.. 5 अगस्त 2019 को जम्मू कश्मीर को लेकर ऐतिहासिक फैसला लेकर 370 को हटा दिया गया… और अब 5 अगस्त 2020 को मंदिर निर्माण का शुभारंभ किया जाएगा… कुछ तो बात है इस तारीख में जो बीजेपी और आरएसएस के लिए जो ये खास बनी हुई है… राम मंदिर बनने का रास्ता तो पिछले साल सुप्रीम कोर्ट का फैसला आने के बाद ही साफ हो गया था… लेकिन नियम के अनुसार ट्रस्ट बनाकर मंदिर निर्माण कराने की शर्त को पूरा करते हुए इतना समय निकल गया… अब लग रहा है कि 5 अगस्त को नींव पड़ने के बाद 3 साल में राम मंदिर बनकर तैयार हो जायेगा… ऐसा बताया जा रहा है कि 5 अगस्त को प्रधानमंत्री दिन में 11 बजे से 1 बजे के बीच अयोध्या पहुंचेंगे. वहां राम मंदिर के नींव पूजन में प्रधानमंत्री तांबे का कलश स्थापित करेंगे… मंदिर की नींव पूजन में इस्तेमामल होने वाले ताम्र कलश में वैदिक रीति के मुताबिक गंगाजल के साथ सभी तीर्थों के जल, सर्वऔषधि, पंच रत्न जिनमें हीरा, पन्ना, माणिक, सोना और पीतल रखे जाएंगे… पूजा के बाद सभी चीजें जो चढ़ाई गई थीं उन्हें नींव में स्थापित करने के बाद मंदिर के निर्माण की प्रक्रिया शुरु हो जायेगी… इस कार्यक्रम में आरएसएस प्रमुख समेत देश की कई बड़ी हस्तियां शामिल हो सकती हैं… लालकृष्ण आडवाणी, मुरली मनोहर जोशी, उमा भारती समेत बीजेपी के कई बड़े नेताओं के इस कार्यक्रम में पहुंचने की उम्मीद है… वहीं कोरोना के इस संकट काल में कम लोगों ही वहां मौजूद हों इस पर भी खास ध्यान दिया जा रहा है… राम मंदिर के शुभारंभ कार्यक्रम का लाइव प्रसारण किया जाएगा ताकि दुनिया के लोग भूमि पूजन का कार्यक्रम देख सकें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here